New stories

6/recent/ticker-posts

Email address motivation story in hindi, moral story in hindi, by Motivationalwords.

       Email address motivation story moral story

     Email address ये कहानी आप लोगों ने जरूर सुने होंगे या कहीं पड़े होंगे फिर भी मैं इस कहानी को अपने शब्दोंं मे लिखने जा रहा हूँ। क्योंकि इस कहानी से हमें बहुत बड़ी सिख मिलती है। 

     ये कहानी है एक लड़के की, जो बहुत हि सरल स्वाभाव,मेहनती और अपने काम के प्रति ईमानदार था। इनके पापा भी अभी कुछ समय पहले हि गुजर गए थे। अब घर की सारी जिम्मेदारियां इनके कन्धो पर ही आ गई। इसी बात को ख्याल मे रखकर जॉब की तालाश मे ईधर - उधर भटकता रहा। एक दिन अख़बार मे एक ऐड देखकर बुलाए गए ऑफ़िस मे जॉब इंटरव्यू देने के लिए चला गया। 

   उस ऑफिस मे आए सभी लोग पारी पारी अपना इंटरव्यू देकर चलें गए। अब उस लड़के का नंबर आ गया। उससे भी कई सारी सवाल कीए उस लड़के ने सभी सवालों का जवाब बखूबी अच्छे से दिए। इंटरव्यूअर खुश हो गए, वे सभी आपस में चर्चा करने लगे की इसे काम में रख लेना चाहिए। 

     इंटरव्यूअर लड़के से बोला - "सुनो तुम अपना ईमेल ऐड्रेस हमें दे दो। हम तुम्हें फार्म देंगे, उसमें तुम अपना सारा डिटेल भर कर हमें सेंड कर देना।" 

     इंटरव्यूअर की बात सुनकर लड़के ने कहा - "सॉरी मेरे पास कोई ईमेल एड्रेस नहीं है"  

     यह क्या कह रहे हो, तुम्हारे पास ईमेल एड्रेस नहीं है। तो फिर तुम क्या काम कर पाओगे? अब यह दौर इंटरनेट का हो गया है इसके बिना तुम कुछ भी नहीं कर पाओगे। और न जाने ऐसी कई सारे बातें उस लड़के को सुनाया। 

     वह लड़का दुःखी होकर वंहा से निकल गया। अब मुझे घर चलाने के लिए कुछ न कुछ तो करना हि पड़ेगा। ऐसे सोचते हुए जा हि रहा था, रास्ते मे सब्जी मंडी आया। उसने अपने जेब को देखा, मात्र 200रु हि थे। उस पैसे से उसने एक कैरेट टमाटर खरीद लिया। फिर वे गलियों मे गुमकर साम होते-होते टमाटर को बेच दिया। उसने देखा कि उसे 500 रुपए का मुनाफा हुआ है। वे बहुत खुश हुए। उसने अगले दिन दो कैरेट टमाटर खरीदा और गलियों मे घूमकर बेच दिया। फिर अगले दिन चार कैरेट फिर आठ कैरेट ऐसे करते-करते उन्होंने खुद का हि फल-सब्जि का दुकान खोल लिया। उसका दुकान खूब चलने लगा। वे वंहा खूब प्रसिद्द हुए लोग उनके बारे मे चर्चा करने लगे। 

    चर्चा मे होने के कारण अखबार वाले उनका स्टोरी कवर करने के लिए इंटरव्यू लेने आये, उसने अपना पूरा इंटरव्यू  दिया। अखबार वाले ने बोला "तुम अपना ईमेल एड्रेस मुझे दे दो मै तुम्हें इस इंटरव्यू का एक प्रति सेंड कर दूँगा। 

     फिर उस लड़के ने कहा " मेरे पास यदि ईमेल एड्रेस होता तो मैं यहाँँ पर नहीं होता,लड़के ने अपनी सारी बात उसे सुनाया।

     ये कहानी हमें बहुत बड़ी सीख दे जाती है। यदि आपके पास किसी चीज़ कि कमी है तो उस कमी को अपनी ताकत बनाओ। और हर हाल मे तुम मेहनत करते जाओ कामयाबी आपके कदमों मे होगी। तुम भी कुछ ऐसा कर दिखाओ की दुनिया भी तुम्हारे जैसा हि करने लगे। ये कहानी आपको कैसे लगी हमें कमेंट जरूर करें। यदि आपके पास भी ऐसे हि स्टोरी है और आप इस ब्लॉग  पर पोस्ट करवाना चाहते है तो हमें कांटेक्ट करें अपना नाम पता ईमेल ऐड्रेस के साथ। 

     धन्यावाद।    

Red more :-

लक्ष्य पाने की कहानी

मूर्ख होना अलग बात है और समझा जाना अलग

हर्ट touching love story सुधीर और सुनीता की

एक kishan or ladke ki sandar kahani

motivational story in hindi शरारती मोहन की


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ