New stories

6/recent/ticker-posts

मुर्गी के अक्ल ठिकाने short moral story in hindi.

 

Best story for kids

     मुर्गा की अकल ठिकाने :-  बहुत समय पहले की बात है एक गांव में बहुत सारी मुर्गियां रहती थी। इनमें से एक मुर्गी बहुत ही खूबसूरत दिखती थी। श्यामू उस मुर्गी को बहुत खूब तंग किया करता था। मुर्गी उससे हमेशा परेशान रहती थी। एक दिन उसने सोची क्यों ना मैं सुबह बाक् ना दूं, चुप ही रहुं जिससे कोई भी सवेरे जल्दी न उठ पाए और मेरी अहमियत समझे। लेकिन अगली सुबह ही सभी जिस समय पर उठते थे, आज भी उठ गया और अपने कार्य पर लग गया। अब मुर्गी को समझ में आ गई थी, कि कोई भी काम उसके बिना नहीं रुकेगी, सुचारू रूप से चलती रहेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ