New stories

6/recent/ticker-posts

Kahaniyan एक माँ की ममता की, new hindi kahaniyan.

Kahaniyan एक माँ की ममता की, new hindi kahaniyan. 

 दोस्तों आज की हमारी Kahaniyan एक माँ की ममता की new hindi kahaniyan है। इसे आप अंत तक अवश्य पढ़ें।

Friends, today's Kahaniyan is the new Hindi kahaniyan of a mother's love. You must read it till the end.

Your Queries :- Kahaniyan, new hindi kahaniyan, moral stories, Motivational stories, best hindi & english Kahaniyan, Kahaniyan by Motivationalwords

Kahaniyan एक माँ की ममता की, new hindi kahaniyan.
Bacchon ki kahaniyan

   एक बरगद के पेड़ पर चमेली नाम की चिड़िया रहती थी। चमेली कुछ बच्चे को जन्म दी थी, जो कि अभी उड़ना भी नहीं जानती थी। मां चमेली अपने बच्चों को भोजन लाकर खिलाती थी। एक दिन खूब बरसात होने लगी। बादल गरजने लगे, आंधी तूफान भी चल रहा था। बच्चे भूखे थे इसलिए खूब कर रो रहे थे।

 चमेली अपने बच्चों को रोते देख उसे शांत कराती लेकिन बच्चे तो भूख के मारे मर रहे थे। चमेली को यह सब देखा नहीं गया। 

  A bird named Jasmine lived on a banyan tree. Jasmine had given birth to some children, who still did not know how to fly. Mother Jasmine used to feed her children by bringing food. One day it started raining heavily. Clouds started to roar, and a storm was going on. The children were hungry so they were crying a lot. 

  Jasmine, seeing her children crying, would pacify them, but the children were dying of hunger. Jasmine did not see all this.

 चमेली सोच में पड़ जाती हैं। "क्या करूं? आंधी तूफान भी अत्यधिक हो रही है।" चमेली को अपने बच्चों को रोना देखा नहीं गया और चली गई एक मंदिर के पास जहां पर साधु-संत बाहर चावल के दाने रखे थे। 

 Jasmine gets confused. "What to do? The typhoon is getting stronger too." Jasmine did not see her children crying and went to a temple where the sages and saints kept grains of rice outside.

 चमेली अपने चोच में खूब सारा चावल के दानों ला लिया और अपने बच्चों को खिलाने लगी। बच्चों का भूख शांत हो गई। मां भी बहुत खुश हो गई। 

 दोस्तों मां तो मां होती है चाहे किसी का भी हो वह अपने बच्चों के लिए अपने आप को हर बार खतरे में डालने के लिए भी तैयार होती हैं। आप उन्हें कभी भी दुखी ना किया करें। 

 इसी के साथ आज फिर भी तो लेता हूं तो फिर आऊंगा नहीं कहानियों के साथ। अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद

   Jasmine brought a lot of rice grains in her beak and started feeding her children. The hunger of the children satiated. Mother also became very happy. 

    Friends, a mother is a mother, no matter who she is, she is also ready to put herself in danger every time for the sake of her children. Don't ever make them sad. 

    With this, even today if I take it, then I will not come again with stories. thanks for reading till the end

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ