New stories

6/recent/ticker-posts

कैसे तेनाली रमन अपने राज्य के राजा कृष्णदेव राय की बगीचे से बैगन चुरा कर सजा पाने से बच गया। tenaliraman ki kahaniyan

 कैसे तेनाली रमन अपने राज्य के राजा कृष्णदेव राय की बगीचे से बैगन चुरा कर सजा पाने से बच गया। tenaliraman ki kahaniyan

    दोस्तों अभी तेनाली रमन की सीरीज चल रहा है। यदि आपने पिछला वाला भाग नहीं पड़ा है तो उसे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

तेनाली रामा ने कुएं चोर को कैसे पकड़ा?

  आज की तेनाली रमन की कहानी में हम जानेंगे, कि कैसे तेनाली रमन अपने राज्य के राजा कृष्णदेव राय की बगीचे से बैगन चुराकर सजा पानी से बज गया। अतः कहानी अंत तक अवश्य पढ़ें क्योंकि यह बहुत ही आनंददायक होने वाला है। 

  Your Queries:- tenalirama ki kahaniyan, tenalirama ki kahaniyan in hindi. Prasiddh tenalirama story, tenalirama story in hindi.

Tenaliraman
    राजा कृष्णदेव राय अपनी बगीचे में टहलने के लिए गए थे। उन्होंने देखा कि उनका बगीचा बहुत ही सुंदर दिख रहा है। खूब सारे पुष्प लगे हुए हैं। पेड़ पौधे हरे भरे बहुत ही सुंदर दिख रहे थे। उनमें एक खास बात यह थी कि वहां पर एक बहुत बड़ा बैगन का पेड़ था। उनमें खूब सारी। बैगन की सब्जी लगा हुआ था राजा सोचने लगा। "क्यों ना मैं सभी को इस बैगन का स्वाद चखाने भोजन के लिए आमंत्रित करूं।"

   अगले दिन राजा ने ऐसा ही किया। सभी मंत्री गण, तेनाली रमन और उनके दरबार के अधिकारी लोग भोजन करने लगे पहुंचा। सभी में सबसे स्वादिष्ट सब्जी बैगन की सब्जी थी। तेनाली रामा को भी यह सब्जी बहुत ही स्वादिष्ट लगा।

  तेनाली रमन घर जाकर यह बात अपनी पत्नी को बताया। उनकी पत्नी को यह बात पता चलते ही उनकी भी इच्छा होने लगी कि वह भी उस बैगन की सब्जी का स्वाद चखे। 

रमन से कहने लगी :- आप बगीचे से 3 से 4 बैगन लाना मैं भी इसका स्वाद चखना चाहती हूं। 

  तेनाली रमन कहने लगा :- नहीं-नहीं, राजा को इस बारे में पता चलेगा, तो वह मुझे बहुत बड़ा दंड देगा। 

  लेकिन उसकी पत्नी नहीं मानी, वह जिद पर अड़ गई। "बस मुझे बैगन की स्वाद चखना है तो चखना है।" अब बेचारा करता भी तो क्या करता। मान गया बैगन लाने के लिए।

   उन्होंने रात को ही किसी तरह छुपते छुपाते 3 से 4 बैगन तोड़ लाएं तथा अपनी पत्नी को उनका स्वाद चखा ही दिया।

 उनकी पत्नी कहने लगी :- इतना स्वादिष्ट बैगन तो मैंने अपनी पूरी जिंदगी में नहीं खाई है। क्यों ना हम इसकी स्वाद अपने बेटे को भी चढ़ाएं? तुम कृपया कल और बैंगन ले आना। 

  तेनाली रामा कहने लगे :- इस बार तो तुम मुझे अवश्य ही फंसाओगी। यदि मेरा बेटा सभी को बता देगा तो। कि उसने बैगन की सब्जी खाई है। मुझे बहुत बड़ा दंड मिलेगा।इस बार भी उसकी पत्नी नहीं मानी। 

  अगले दिन रात को तेनाली रमन कुछ और बैगन तोड़ कर ला लिए। लेकिन इस बार उन्होंने एक योजना बनाया। जब उसके बेटे छत पर सो रहे थे, तभी वे एक बाल्टी पानी लेकर उसके सर पर मार दिया और कहने लगे घर के अंदर चलो वर्षा बड़ा जोरों से हो रहे है। उसका बेटा नीचे कमरे में चला आया तथा कपड़ा सुखाने लगा।

    जब पूरा कपड़ा सूख गया तब तेनाली रामा ने उसे बैगन का स्वाद चखा दिया। उसके बेटा भी इतना स्वादिष्ट बैगन खाकर बहुत ही खुश हुआ। 

   अगले दिन दरबार लगा। उसमें बगीचे के माली ने राजा से शिकायत किया। "महराज बगीचे से कुछ बैगन गायब हो गए हैं, मुझे लगता है किसी ने बैगन को चुरा लिए हैं।"

   तभी तेनाली रामा की विरोधी व्यक्ति कहते हैं :- महाराज यह कार्य किसी चतुर व्यक्ति ही कर सकता है। मुझे लगता है, कि यह कार्य अवश्य ही तेनाली रमन ने किया होगा। उनसे भला चतुर व्यक्ति कौन हो सकता है? 

   राजा इस बात की पुष्टि करने के लिए, कि आखिर चोर कौन हैं? तेनाली रमन और उसके बेटे को भी बुला लिया। क्योंकि बच्चा तो नादान होता है, उसे थोड़ा बहुत डरा धमका कर पूछने पर बता देता है। यह सोच राजा तेनाली रामा के बेटा से डरा कर पूछा :- बेटा कल रात तुमने कौन सी सब्जी खाया?

  उसके बेटे ने कहा :- मैंने तो कल बहुत ही स्वादिष्ट बैगन की सब्जी खाया हूँ । मैंने ऐसी सब्जी जिंदगी में नहीं खाई थी।

   तभी तेनाली रामा बीच में बोल पड़ा :- महाराज! मेरा बेटा कल रात में यही बड़बड़ा रहा था कि मैंने बहुत ही स्वादिष्ट बैगन की सब्जी खाई है और खूब बरसात भी हो रही है। जरा मौसम के बारे में भी तो पूछिए। 

 राजा उसके बेटे से पूछते हैं :- कल रात का मौसम कैसा था बेटा?

 तेनाली रामा का बेटा :- महाराज कल तो बड़ा जोरों से बारिश होने लगी। मैं तो पूरा भीग गया था। सभी लोग समझ गए थे की यह लड़का सपना देख रहा था। क्योंकि कल रात तो वर्षा हुआ हि नहीं था एकदम सूखा था तो बारिश कान्हा से होता। तेनाली रमन जो कह रहा है वह सत्य है। 

   इस तरह तेनाली रमन ने अपनी चतुराई से सजा पाने से बज गया। आशा करता हूं यह कहानी आपको अच्छी लगी होगी। कल तेनाली रामा की एक और मजेदार कहानी आने वाली है अतः आप उसे भी अवश्य पढ़ें कल यहां अपडेट की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ